name
home Home contact Contact Us contact Feedback
go

संवेदना ई-शोध पत्रिका                                                                                                                                                 आईएसएसएन : 2581-9917

Samvedanã e-Research Magazine                                                                                                    ISSN : : 2581-9917

 

समीक्षिता षड्मासिक ई-शोध पत्रिका

Peer Reviewed Half-Yearly e-Research Magazine

 

संवेदना के बारे में (About Samvedanã)

            मैत्रेयी महाविद्यालय की आन्तरिक शिकायत समिति द्वारा प्रकाश्यमान संवेदना आईएसएसएन प्राप्त समीक्षिता ई-शोधपत्रिका है। इसका आईएसएसएन 2581-9917 है। द्विभाषोपेत षड्मासिक इस पत्रिका का वर्ष में दो बार (1 जनवरी एवं 1 जुलाई को) प्रकाशन किया जाता है। इस शोधपत्रिका का प्रथमतः प्रकाशन 1 जनवरी, 2019 को हुआ था और तब से लेकर अद्यावधिपर्यन्त इसके कुल चार अंक प्रकाशित हो चुके हैं। इस पत्रिका में समीक्षकों की अनुशंसा से गुणवत्तापरक लेखों का प्रकाशन निःशुल्क किया जाता है।

Samvedanã, published by the Internal Complaints Committee of Maitreyi College, is a peer reviewed e-Research Magazine having ISSN 2581-9917. It is a bilingual, half yearly magazine, brought out twice a year (1st January and 1st July). First issue of this magazine came on 1st January 2019 and since then four issues have been published till date. This is a non-commercial magazine in which high standard articles are accepted on recommendation of the reviewers.

संवेदना का अर्थ एवं अभिप्राय  (Meaning and intent of the title Samvedanã)

            संस्कृत भाषा से गृहीत संवेदना (Compassion) का अर्थ है- अनुभूति या विशिष्ट अनुभूति। अभिप्रायार्थ यह है कि संवेदना एक ऐसा मानसिक व्यापार है, जिसमें बाह्य प्रतिक्रिया के बिना दूसरों के सुख-दुःख का अनुभव होता है। वस्तुतः दूसरों के सुख-दुःख में सम्मिलित होना, दूसरों के कष्ट में सहानुभूति रखना तथा उसके निराकरण हेतु उद्यत होना ही संवेदना है। वसुधैव कुटुम्बकम्‌’, ‘सर्वे भवन्तु सुखिनः इत्यादि विश्वकल्याण की कामना से ओत-प्रोत भावनाओं की उद्भावना का आधार संवेदना ही है।

Samvedanã is a word from Sanskrit language which means compassion – a strong feeling of sympathy, understanding, and concern for suffering of others with a desire to help them. The ideals of ‘Vasudhaiva Kutumbakam’ and ‘Sarve Bhawantu Sukhinah’ meaning that the whole world is one family and every one should be happy are possible only when one has heart full of Samvedanã.

संवेदना पत्रिका का उद्देश्य (Objective in bringing out Samvedanã)

            सामाजिक संवेदनाओं से संवलित एवं जन-जागरुकता समाहित संवेदना ई-शोध पत्रिका का प्रमुख उद्देश्य देश-विदेश से प्राप्त गुणवत्तापूर्ण लेखों का प्रकाशन करना है। इसमें शिक्षा क्षेत्र से जुड़े विद्वानों, शोधार्थियों, विद्यार्थियों के अलावा अभिभावकों एवं सामान्यजनों के चुनिन्दा अत्युत्कृष्ट लेखों को भी जगह दी जाती है, जिससे उनमें शोधपरक रचनाधर्मिता को बढ़ावा दिया जा सके। पत्रिका का केन्द्रविन्दु जेंडर स्टडीज है, तथापि सामाजिक सौहार्द्र एवं जन-चेतना को बढ़ावा देने के उद्देश्य से लिखे गए मौलिक कविता, कहानी, अनुभव, संस्मरण इत्यादि को भी इसमें जगह दी जाती है।

The main objective of the magazine is to highlight gender related and other social issues prevailing in the society. It is by means of selected high quality poems, articles, story, memoirs etc, written originally that an attempt is made to arouse public sensitivity towards these issues. Since the issues are more or less the same in all the societies across the globe, scholars from academics, researchers, professionals, teachers and students are offered a platform to express their views.

All rights rerserved by Maitreyi College
Hollywood Multimedia Ltd.